बेहतर इम्युनिटी के लिए रोज़ पीरे नींबू-पानी, दूर होंगे मोटापे से लेकर अपच जैसी समस्याएँ

Apr 22, 2021

गर्म नींबू पानी में लैक्सेटिव प्रॉपर्टीज होते हैं, स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि गर्म पानी में नींबू पीने से मल त्याग करने में मदद मिलती है।

गर्मियों में शरबत पीना सभी को अच्छा लगता है, ये न केवल बॉडी को हाइड्रेटेड रखता है, बल्कि उसे ठंडक भी प्रदान करता है। पीने का पानी ऐसा ही ड्रिंक है जिसे पीना लगभग सभी को पसंद होता है। फिर बात चाहे सुबह-सवेरे इसे पीने की हो या फिर गर्मी कम करने के लिए दोपहर में इसकी चुस्कियां लगाने की, नींबू-पानी पीने से लोग ताजगी महसूस करते हैं। यह ठंडा-गर्म, मीठा या नमकीन कई तरीकों से पीया जा सकता है। नींबू-पानी पीने के कई स्वास्थ्य लाभ भी हैं। आइए जानते हैं -

बेहतर होता है इम्युनिटी: नींबू में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है, साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स भी पाए जाते हैं। ये एंटी-ऑक्सीडेंट्स मुक्त रैडन्स के प्रभाव को शरीर में कम करते हैं। इससे शरीर के इम्युन सिस्टम को विकसित करने में मदद मिलती है। कोरोनावायरस के इस दौर में मजबूत इम्युनिटी बेहद जरूरी है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए लोग तमाम कोशिशें करते हैं। सिर्फ कोविड से बचने में ही नहीं, बल्कि संपूर्ण स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए इम्युनिटी का स्ट्रॉन्ग होना जरूरी है।

दूर होंगे पाचन की कठिनाईयों: गर्म नींबू पानी में लैक्सेटिव प्रॉपर्टीज होते हैं, स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि गर्म पानी में नींबू सहित पीने से मल त्याग करने में मदद मिलती है। इससे गरीबी दुरुस्त रहती है। बेहतर परिष्करण शरीर को विषाक्त पदार्थों से दूर रखता है। साथ ही, आवश्यक विटामिन और मिनरल्स को एब्जॉर्ब करने में भी मदद मिलती है। इसलिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ जो लोग कब्ज, पेट फूलने या अपच से परेशान रहते हैं, उन्हें सुबह उठते ही एक गिलास गर्म नींबू पानी पानी देना चाहिए।

स्किन के लिए फायदेमंद है: नींबू में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स स्किन को ऑक्सिलेटिव स्ट्रेस से बचाने में मददगार। इससे चेहरे पर दिखने वाले बढ़ती उम्र के निशान दूर हो जाते हैं। फाइन लाइन्स जल्दी नजर नहीं आती, साथ ही इसे पीने से स्किन हाइड्रेटेड रहता है जिससे चेहरे पर निखार आता है। वजन पर संतुलन बनाने में मददगार: कई लोग नींबू पानी का सेवन इसलिए भी करते हैं क्योंकि ये वजन कम करने में सहायक है। इसमें मौजूद लिक्विड की मात्रा पेट को अधिक देर तक भरे-भरे रखता है। ऐसे में लोगों के शरीर में कैलोरीज बेहद कम मात्रा में पहुंचती हैं। साथ ही, इससे मेटबॉलिज्म बढ़ाने में भी मदद मिलती है।