क्या काले चने के पानी से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है?

भारत में काले चने का इस्तेमाल कई तरह से किया जाता है।कभी चना चाट बनाकर और कभी चने की सब्जी बनाकर इन्हें खाते हैं। कुछ लोग सुबह सबसे पहले भीगे हुए चने का सेवन करते हैं क्योंकि इसे फायदेमंद माना जाता है।
लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि जिस पानी में छोले भिगोए जाते हैं, उसका क्या होता है? आपको बता दें कि चने के अलावा इसका पानी शरीर के लिए बहुत अच्छा होता है। इसके नियमित सेवन से कई तरह की बीमारियों से बचाव होता है।  

इतना ही नहीं, मधुमेह के रोगियों को भी काले चने के पानी से फायदा हो सकता है। आइए देखें कि यह कैसे संभव है।
हाल के वर्षों में डायबिटीज एक बहुत आम स्वास्थ्य समस्या बन गई है। हर दो में से एक व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित करता है, जिससे नॉर्मल लाइफ मुश्किल हो जाती है। डायबिटीज के रोगी को इस बात का बहुत ध्यान रखना चाहिए कि वे क्या खाते हैं और क्या नहीं खाते हैं।
डायबिटीज रोगियों को इस स्थिति में काले चने और इसके पानी से लाभ हो सकता है। डायबिटीज और रक्त शर्करा के स्तर को स्वाभाविक रूप से नियंत्रित करने में मदद करने के लिए इसे अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते है।  

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के अनुसार, काला चना एक आदर्श डायबिटीज भोजन है। काला चना की एक सर्विंग में 13 ग्राम डाइटरी फाइबर होता है। उच्च फाइबर सामग्री रक्त शर्करा के स्तर में सुधार करने और शरीर में ग्लूकोज के स्तर को कम करने में मदद करती है।

काले चने का पानी सामान्य रूप से आपकी सेहत के लिए अच्छा होता है।
इसमें घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर होते हैं। यह आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर के साथ-साथ मधुमेह को नियंत्रित करने में आपकी मदद करेगा। यदि आप अपना वजन कम करने का प्रयास कर रहे हैं, तो काला चना एक अच्छा विकल्प है। इसकी फाइबर सामग्री आपकी पोषण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के साथ-साथ वजन कम करने में आपकी मदद करेगी।
यह एंटीऑक्सिडेंट का एक अच्छा स्रोत है जो आपके दिल को स्वस्थ रखने और हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद करता है। इनका नियमित सेवन उन्हें कई तरह की बीमारियों से बचाता है।  

काले चने का पानी बनाने का तरीका
आप चना को रात भर पानी में भिगोकर रख सकते हैं और फिर अगली सुबह इसे छानकर पी सकते हैं। आप चाहें तो चनों को पानी के साथ उबाल कर भी इसका पानी तैयार कर सकती हैं।
चने के पानी को और भी स्वादिष्ट बनाने के लिए आप इसमें काला नमक, पुदीना और जीरा पाउडर मिला सकते हैं। सुबह खाली पेट काले चने का पानी पिया जा सकता है।